अस्पताल का बिल ना चुकाने पर मरीज़ की पीट-पीटकर हत्या.

0
3

मरीज़ की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

अलीगढ़ के एसपी (सिटी) अभिषेक ने बीबीसी को बताया, ”मृतक के परिजनों ने अस्पताल प्रशासन के ख़िलाफ़ शिकायत दी है जिसके आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है.”

उन्होंने कहा, ”हमें सीसीटीवी वीडियो मिला है जिसमें मारपीट होती दिख रही है. परिजनों ने अपनी शिकायत में कहा है कि अस्पताल प्रशासन ने मरीज़ और उन पर हमला किया.”

एसपी (सिटी) के मुताबिक शुरुआती जांच में पता चला है कि मरीज़ के परिजनों का फ़ीस को लेकर अस्पताल प्रशासन से विवाद हुआ था. उनका कहना है कि मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

मृतक सुल्तान ख़ान के परिजिनों का कहना है कि उन्हें पेशाब न होने की शिकायत के बाद एनबी अस्पताल लाया गया था. जहां अस्पताल के अधिक ख़र्च बताने पर वो मरीज़ को किसी और अस्पताल ले जा रहे थे. इस दौरान ही विवाद हुआ और अस्पताल से जुड़े लोगों ने उन पर हमला किया.

सुल्तान के परिजन चमन ख़ान ने एक बयान में कहा है, ”हम अपने मरीज़ को इलाज कराने के लिए एनबी अस्पताल लेकर पहुंचे थे. हमने मरीज़ को भर्ती कराने से पहले अस्पताल से पूछा था कि हमें ख़र्च बता दें, हमारा हिसाब होगा तो हम इलाज करा लेंगे. लेकिन अस्पताल ने कहा कि पहले जांच की जाएगी उसके बाद ख़र्च बताया जाएगा.”

उन्होंने कहा, ”बिना अल्ट्रासाउंड कराए ही उन्होंने पांच हज़ार रुपए की दवा दी और कहा कि रोज़ाना इलाज में पांच हज़ार रुपए से अधिक ख़र्च आएगा. हमने कहा कि इतना महंगा इलाज हम नहीं करा पाएंगे, जो दवा ली थी वो वापस करके हमने सैंतीस सौ रुपए का भुगतान कर दिया.”

चमन ख़ान ने कहा, ”अस्पताल प्रशासन ने हमसे चार हज़ार रुपए और मांगे, हमने पूछा ये किसलिए तो उन्होंने कहा ये अस्पताल में भर्ती होने का बिल है. मैंने कहा ये मैं नहीं दे पाउंगा. मैं अपने मरीज़ को दूसरे अस्पताल में ले जाना चाहता था लेकिन उन्होंने जाने नहीं दिया. हमें पंद्रह मिनट तक रोका रखा. मैं मिन्नतें करता रहा, वो नहीं माने. फिर मैंने धक्का दिया जिसके बाद उन्होंने हम पर हमला कर दिया. मेरे चाचा को डंडों से मारा जिससे उनकी मौत हो गई.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here