Flood In Assembly Constituencies : आपदा की इस घड़ी में लोगों को राहत पहुँचाना सरकार की प्राथमिकता -हर्षवर्धन चौहान

    0
    1
    Disaster-kinour-himachalpardesh-tatklsamachar-Harshvardhan Chauhan
    Government's priority is to provide relief to people in this hour of disaster - Harsh Vardhan Chouhan

     सिरमौर जिला के अपने प्रवास के दूसरे दिन बुधवार को उद्योग, संसदीय मामले एवं आयुष मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने विश्राम गृह पांवटा साहिब में लोगों की समस्याएं सुनी। इस अवसर पर उन्होंने विशेष तौर पर सक्षम सतौन निवासी शशिकांत शर्मा को अपनी ओर से एक स्कूटी भेंट की। दोनों टांगों से अपाहिज होने के कारण शशिकांत पिछले 20 सालों से अपने गांव से बाहर नहीं निकल पा रहा था किन्तु अब तिपहिया स्कूटी की सुविधा होने के बाद अपनी इच्छा अनुसार कहीं पर भी आवाजाही कर सकेगा। शशिकांत ने इतनी बड़ी सुविधा प्रदान करने के लिए हर्षवर्धन चौहान का दिल से आभार जताया है।

    ‘‘विनोद कुमार को सांत्वना देने नारीवाला पहुंचे हर्षवर्धन’’

    हर्षवर्धन चौहान पांवटा साहिब के सिरमौरी ताल में विनोद कुमार को सांत्वना देने पहुंचे। इनका पूरा परिवार गत दिनों भारी वर्षा के बाद आई बाढ़ में काल का ग्रास बन गया था। विनोद कुमार अपने बड़े भाई कमल के घर में रह रहा है। https://www.tatkalsamachar.com/rain-landslide-and-flood-kinour/उद्योग मंत्री ने विनोद कुमार तथा उसके परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि हम समझ सकते हैं कि यह दुख की इंतिहा है और इतने गहरे घावों को कोई भी नहीं भर सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार उनके साथ है और हर संभव सहायता करेगी।
     गौरतलब है कि पिछले दिनों मालगी में बादल फटने के कारण सिरमौरी ताल में भयंकर बाढ आ गई थी, जिसने विनोद कुमार के घर सहित परिवार के पांच सदस्यों को अपने आगोश में ले लिया। गांव के लगभग 17 परिवार बाढ़ से प्रभावित हुए हैं, उनके घरों और जमीनों को खासा नुकसान पहुंचा है।


    हर्षवर्धन चौहान राजबन भी पहुंचे जहां सिरमौरी ताल के बाढ़ प्रभावित 17 परिवारों के लगभग 200 लोगों को सरकार ने आश्रय प्रदान किया है। उद्योग मंत्री ने आश्रय गृह में मौजूद सभी लोगों से बातचीत करके उनकी पीड़ा को कम करने का भरसक प्रयास किया। उन्होंने प्रशासन की टीम को साथ लेकर अधिकारियों को सिरमौरी ताल के प्रभावित परिवारों के मकान और जमीनों के नुकसान की रिपोर्ट तुरंत प्रस्तुत करके राहत राशि प्रदान करने के निर्देश दिए, हालांकि प्रशासन ने फौरी राहत पहले ही प्रदान कर दी है।


     उद्योग मंत्री ने कहा कि सरकार बाढ़ प्रभावित लोगों की अधिक से अधिक सहायता करने के प्रयास कर रही है ताकि लोगों का सुविधाजनक पुनर्वास हो सके। उन्होंने शेल्टर होम में लोगों के रहने व उनके खाने-पीने के प्रबंधों का भी जायजा लिया और लोगों से फीडबैक प्राप्त करके उन्हें और अधिक सुविधाएं पहुंचाने के लिए अधिकारियों को कहा।

    ‘‘हर्षवर्धन चौहान ने सतौन, कमरऊ व कफोटा में किया लोगों की समस्याओं का निदान’’

    उद्योग मंत्री के समक्ष सतौन में पोका, भझोन, चांदनी, कठवार, कोटगा, मनाल, साखोली, कांटी मशवा तथा बड़वास ग्राम पंचायतों के लोग अपनी समस्याओं को लेकर पहुंचे। उद्योग मंत्री ने संबंधित विभागों के अधिकारियों के सहयोग से लोगों की अधिकांश शिकायतों का मौके पर समाधान किया।
    इसके उपरांत कमरऊ में गांव के लोगों ने उद्योग मंत्री का स्वागत किया और अपनी समस्याएं उनके समक्ष रखी। इसी गांव में वह 104 वर्षीय समाजसेवी मोही राम जिनका देहावसान कुछ दिन पूर्व हुआ है, के परिजनों से मिले और संवेदनाएं व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मोही राम क्षेत्र में एक जाने-माने व्यक्ति थे और निश्चित तौर पर उनके ना रहने से लोगों को क्षति पहुंची है।


    कफोटा में उद्योग मंत्री के समक्ष  बोखाला-पाब, दुगाना, शिल्ला, टटियाणा, कोटा-पाब, ठोठा-जाखल, समां-पंपता, जामना, जाखना, कांडो चियोग, शरली, माशु चियोग पंचायतों के लोगों ने अपनी समस्यायें रखी ।


    हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि समूचा प्रदेश आपदा की चपेट में है और सभी जगहों पर बड़े पैमाने पर जानमाल का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू बरसात के प्रारंभिक दिनों से ही फील्ड में डटे हैं और जहां कहीं पर भी किसी आपदा की खबर मिलती है तुरंत अपने मंत्रियों और जिला प्रशासन को बचाव व राहत कार्यों के लिए काम पर लगा देते हैं व स्वयं भी आपदा प्रभावित क्षेत्रों में पहुंच रहे हैं।


     उद्योग मंत्री ने कहा कि कई दशकों के बाद इतनी बड़ी आपदा प्रदेश में आई है जिससे सैकड़ों परिवार प्रभावित हुए हैं। जान व माल का बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। बहाली के कार्यों में सरकार व प्रशासन दिन-रात लगे हैं लेकिन बरसात अभी भी थमने का नाम नहीं ले रही है और आए दिन नई-नई आपदाएं प्रदेश में घटित हो रही है।


     उन्होंने कहा कि हालांकि अस्थाई तौर पर सड़कों, पेयजल योजनाओं की बहाली एक-दो दिन के भीतर कर दी जाती है लेकिन स्थाई तौर पर इन परियोजनाओं का पुनर्निर्माण करने में  समय लग जाएगा। उन्होंने आपदा कि इस घड़ी में आम जनमानस से भी सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि इतने बड़े पैमाने हुई आपदाओं को लेकर किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं की जानी चाहिए। https://youtu.be/PWDy_J5G8p0 उन्होंने कहा कि सरकार मुस्तैदी के साथ अपना काम कर रही है और किसी भी प्रकार की छिंटा-कशी करना प्रदेश की भोली भाली जनता के साथ भी धोखा करने जैसा है।


    हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि उन्हें जब भी समय लगता है अपनी जनता के बीच उनकी दुख तकलीफों का समाधान करने के लिए पहुंच जाते हैं और शिमला में भी हर समय लोगों की समस्याएं सुनने के लिए तत्पर रहते हैं। उन्होंने कहा कि वह शिलाई विधानसभा क्षेत्र को स्थानीय लोगों के सहयोग से तेजी के साथ विकास के पथ पर आगे ले जाने की दिशा में काम कर रहे हैं।


    इस अवसर पर पूर्व विधायक किरनेश जंग, एसडीएम पाँवटा साहिब गुंजीत सिंह चीमा, डीएसपी मानवेंद्र ठाकुर, अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पांवटा अश्विनी शर्मा, भारत भूषण मोहिल निदेशक राज्य सहकारी बैंक, असगर अली निदेशक जोगिंद्रा बैंक, प्रदेश महामंत्री कांग्रेस कमेटी शशी कपूर, अवनीत सिंह लांबा, पूर्व नगर परिषद चेयरमैन तपेन्द्र सैनी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here