लापरवाही से सिकुड़ गई खज्जियार झील, अस्तित्व को बचाने आगे आया प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

0
19

हिमाचल के चंबा जिले में स्थित खज्जियार झील के अस्तित्व को बचाने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने कवायद शुरू कर दी है। झील में फैल रही गंदगी को लेकर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने रिपोर्ट तैयार की है। इसे प्रदूषण बोर्ड सचिव शिमला को भेज दिया गया है। वन्य प्राणी विभाग को इस रिपोर्ट के आधार नोटिस जारी किया जा सकता है। झील का पानी दिन प्रतिदिन गंदा हो रहा है। प्रदूषण बोर्ड की रिपोर्ट में उन सभी तथ्यों को शामिल किया गया है। जिसकी वजह से झील का पानी गंदा हो रहा है। झील मैदान के चारों तरफ मवेशी घास खाते रहते हैं। मवेशियों का गोबर और मूत्र बारिश के पानी के साथ झील में घुल रहा है। जंगल से पेड़ों की पत्तियां भी बारिश के पानी के पास झील में जमा हो रही हैं। इससे झील का दायरा सिकुड़ रहा है। झील के अस्तित्व को बचाने के लिए वन्य प्राणी विभाग की ओर से कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है।

कुछ दिन पहले प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने खज्जियार झील का मुआयना किया। इस दौरान टीम ने झील में फैल रही गंदगी और गाद के कारणों की छानबीन की गई। बोर्ड ने एक रिपोर्ट बनाई है।  प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कनिष्ठ अभियंता राहुल शर्मा ने बताया कि खज्जियार झील में बढ़ रही गाद को लेकर एक रिपोर्ट बनाकर बोर्ड सचिव को भेजी गई है। इसके अलावा वन्य प्राणी विभाग को भी इस में बारे सचेत किया गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here