Una News : भारत सरकार के नवगठित सहकारिता मंत्रालय ने प्रथम सहकारिता मंत्री अमित शाह द्वारा ग्रामीण क्षेत्र की कृषि सहकारी सभाओ के लिये क्रांतिकारी निर्णय लिए है

    0
    0
    una-agricultural - societies -tatkalsamachar
    The newly formed Ministry of Cooperatives, Government of India, has taken revolutionary decisions by the first Cooperative Minister Amit Shah for agricultural cooperative societies in rural areas.

     अब देश में एक लाख प्राथमिक कृषि सहकारी सभाएं अपने ग्रामीण क्षेत्रों में पट्रोल पम्प, रसोई गैंस की ऐजंसी, सुविधा केंद्र, जनऔषधि केंद्र, कृषि के उपयोग में आने वाले संयंत्रों को सर्विस के लिए उपलब्ध करवाने आदि अन्य कई व्यवसायों को शुरू करनें के लिए अधिकृत किया हैं। इन सहकारी सभाओं को राष्ट्रीय स्तर पर करोड़ों रुपये की लागत से कम्प्यूटरीकृत किया जा रहा हैं ताकि सभाओं की सारी कार्यप्रणाली सहकारिता विभाग की नजर में रहेगी तथा पारदर्शिता से आम जन का विश्वास भी अर्जित होगा।

     

    आज ऊना विकास खण्ड के अंतर्गत ऊनकोफैड व हिमकोफैड शिमला द्वारा बहडाला गांव में  सहकारी सभाओं के लिए आयोजित कार्यक्रम में ऊना जिला सहकारी विकास संघ ( ऊनकोफैड) के चेयरमैन राजेन्द्र शर्मा ने उपरोक्त जानकारी सभाओ सें साझां की तथा सभाओं से उपरोक्त कार्यों को शुरू करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि इन कार्यों से जहां सहकारी सभा के कारोबार में विस्तार होगा वहीं दूसरी तरफ सभा के माध्यम से रोजगार के अवसर भी सर्जित होगें। सभा के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों की आर्थिकी में भी समुचित वृद्धि होगी।

    हिमकोफैड शिमला के अनुदेशक बलवंत कुमार ने अपने सम्बोधन में सहकारी सभा की संरचना, कार्यप्रणाली व प्रबंधकीय व्यवस्था व  उद्देश्यों पर विस्तार से चर्चा करते हुए प्रबंधक कमेटी को अपने उत्तरदायित्वों बारे बताया व  उनको  निभाने का मार्गदर्शन दिया । उन्होंने प्रबंधक कमेटी को उनके कर्तव्यों व अधिकारों सें अवगत करवाकर प्रशिक्षित किया।https://www.tatkalsamachar.com/shimla-news-pm/ उन्होंने बताया कि सभा की प्रबंधक कमेटी सभा के सचिव के साथ कानून के अंतर्गत सभा के दैनिक कारोबार का निष्पादन सुनिश्चित करें। क्योंकि सभा के किसी भी कार्य के लिए सभा की प्रबंधक कमेटी ही उत्तरदायी होती है।  प्रबंधक कमेटी सभा के किसी भी कार्य के बारे अपने को अनभिज्ञता का तर्क नही दे सकती। 

    एकीकृत सहकारी विकास परियोजना के महाप्रबंधक एवं सहायक पंजीयक सहकारी सभाएं ऊना विक्रमजीत ने सभाओं को अपने भवन निर्माण, कार्यलाय के फर्नीचर, भवन की मुरम्मत, पशुआहार बनाने व हल्दी पाऊडर बनाने का यूनिट लगाने  व कारोबार के विस्तार के लिए पैसा ले सकती हैं। इन योजनाओं पर 20 प्रतिशत की सब्सिडी का भी प्रवाधान हैं। https://youtu.be/e0fCd_-zymo उन्होंने सहकारी सभा की कार्यप्रणाली को संचालित करने के लिए प्रबधंक कमेटी व सचिव को पारदर्शिता से कार्य करनें बारे बड़ी बारीकी से समझाया। खण्ड निरीक्षक राजीव कुमार ने सभाओं में आ रही दिक्कतों को सुना व उनके समाधान बारें अपना मार्गदर्शन दिया। 

    अंत में ऊनकोफैड के सचिव अंकित बाली ने सहकरिता विभाग के अधिकारियों व सभाओं से आए प्रबंधक कमेटियों का आभार प्रगट किया और स्थानीय सभा बहडाला के प्रधान रमन राणा व सचिव प्रमोद सिंह के विशेष सहयोग के प्रति साधुवाद दिया । 

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here