Solan News : विकास कार्यों को समय पर पूर्ण करने के लिए सतत प्रत्यनशील रहे अधिकारी व कर्मचारी – डाॅ. शांडिलकण्डाघाट में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक आयोजित

    0
    5

    स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा श्रम एवं रोजगार मंत्री डाॅ. कर्नल धनी राम शांडिल की अध्यक्षता में आज खंड विकास अधिकारी कार्यालय कंडाघाट में विकासात्मक योजनाओं की समीक्षा के लिए बैठक का आयोजन किया गया।

    डाॅ. शांडिल ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित बनाना चाहती है कि विकास के लिए प्रदत्त धनराशि का समयबद्ध एवं समुचित उपयोग किया जाए। उन्होंने कहा कि इससे जहां लक्षित वर्गों को समय पर योजनाओं के लाभ मिलते हैं वहीं सरकार पर अनावश्यक बोझ नहीं पड़ता। उन्होंने कहा कि यह अधिकारी एवं कर्मचारियों के सतत कार्य एवं अनुशासन से ही सम्भव हो सकता है। https://www.tatkalsamachar.com/mandi-news उन्होंने अधिकारी एवं कर्मचारियों से आग्रह किया कि विभिन्न विकास कार्यों को समय पर पूर्ण करने के लिए कार्यरत रहें।

    डाॅ. शांडिल ने लगभग 64 करोड़ रुपये व्यय कर औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान वाकनाघाट के भवन निर्माण कार्य को 03 माह के भीतर पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्यटन स्थल चायल में वाहनों की आवाजाही काफी अधिक होने से दुर्घटनाओं का खतरा बना रहता है। उन्होंने चायल संपर्क मार्ग पर ब्लैक स्पॉट चिन्हित करने तथा पैच वर्क कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।

    उन्होंने अर्की से बशील संपर्क मार्ग की टायरिंग का कार्य तथा ममलीग से कोट सड़क के संरक्षण व मुरम्मत का कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।

    डाॅ. शांडिल ने कहा कि कंडाघाट क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के लिए 150 करोड़ रुपये की लागत से 40 ट्रांसफार्मर स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने वाकनाघाट क्षेत्र में 33 के.वी का विद्युत उप केन्द्र स्थापित करने के लिए तहसीलदार कंडाघाट को भूमि चयनित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कण्डाघाट, वाकनाघाट तथा चायल क्षेत्र के साथ लगती विभिन्न ग्राम पंचायतों में पेयजल समस्या के प्रबंधन के लिए 55 लाख रुपये की लागत से बनने वाली उठाऊ पेयजल योजना को एक वर्ष के भीतर पूर्ण करने के निर्देश दिए।

    उन्होंने ममलीग क्षेत्र में पेयजल वितरण का दिन व समय निर्धारित करने के निर्देश दिए ताकि क्षेत्रवासियों को बेहतर पेयजल की सुविधा उपलब्ध हो सके।

    डाॅ. शांडिल ने 50 लाख रुपए की लागत से चायल पैलेस तथा 10 लाख रुपये की लागत से साधुपुल में वाटर टैंक के संरक्षण, संवर्धन व मुरम्मत कार्य को पर्यटन विभाग को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने वन विभाग को अधिक से अधिक पौधे रोपित कर इनका रखरखाव सुनिश्चित बनाने के निर्देश भी दिए ताकि पर्यावरण संरक्षण को बल मिले। http://Himachal Pradesh Government
    स्वास्थ्य मंत्री ने इससे पूर्व, कण्डाघाट सिविल अस्पताल का निरीक्षण भी किया तथा चिकित्सकों एवं अन्य को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

    इस अवसर पर उपमण्डलाधिकारी कण्डाघाट सिद्धार्थ आचार्य, ज़िला पर्यटन विकास अधिकारी रतिराम, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डाॅ. राजन उप्पल, खंड विकास अधिकारी कण्डाघाट नरेश शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here