हिमाचल में ग्रामीण क्षेत्रों के वरिष्ठ नागरिकों के लिए ‘‘पंचवटी’’ योजना शुरू

0
9

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के वरिष्ठ नागरिकों के लिए ‘‘पंचवटी योजना’’ का शुभारंभ किया। इस योजना में ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से मनरेगा योजना के अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं से युक्त सभी विकास खंडों में पार्क और बागीचे विकसित किए जाएंगे। योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों को मनोरंजन के साथ पार्क और बागीचों की सुविधा उपलब्ध करवाना हैै। वरिष्ठ नागरिकों की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मनरेगा, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) और 14वें वित्त आयोग अभिसरण में न्यूनतम एक बीघा की समतल भूमि पर इन पार्कों और बागीचों को विकसित किया जाएगा। इन पार्कों में आयुर्वेदिक और औषधीय पौधे लगाने के अलावा बुजुर्गों के लिए मनोरजंन के लिए मनोरंजक उपकरण, पैदल पथ और अन्य बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी।

इस वर्ष राज्य में होगा 100 पार्कों का निर्माण
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में राज्य के विभिन्न स्थानों पर लगभग 100 पार्क विकसित किए जाएंगे। इन पार्कों के पहले चरण का शुभांरभ आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला मंडी के गोहर विकास खंड, जिला ऊना के बंगाणा विकास खंड, जिला कुल्लू के बंजार और नग्गर विकास खंड, जिला लाहौल-स्पीति के काजा विकास खंड, जिला कांगड़ा के सुलह और नगरोटा बगवां विकास खंड, जिला सिरमौर के पांवटा साहिब और पच्छाद विकास खंड, जिला चम्बा के भटियात और तीसा विकास खंड, जिला किन्नौर के कल्पा विकास खंड, जिला सोलन के कंडाघाट विकास खंड, जिला शिमला के रोहड़ू विकास खंड और जिला हमीरपुर के नादौन विकास खंड में किया गया। उक्त पार्क वरिष्ठ नागरिकों को स्वस्थ और प्रसन्नतापूर्ण जीवन व्यतीत करने में वरदान साबित होंगे।

राज्य सरकार जनता को अधिकतम सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रयासरतमुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने बताया कि राज्य सरकार लोगों को अधिकतम सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रयासरत है तथा यह योजना इसी दिशा में किया गया एक प्रयास है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की 90 प्रतिशत जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है इसलिए सरकार का ध्यान ग्रामोन्मुखी नीतियों पर केंद्रित है जिससे इन क्षेत्रों का विकास तेज गति से सुनिश्चित हो रहा है। ग्रामीण विकास मंत्री श्री वीरेन्द्र कंवर जी ने ऊना से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के लोगों तथा ग्रामीण विकास में गहन रूचि रखने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। सचिव ग्रामीण विकास डाॅ. संदीप भटनागर ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। निदेशक ग्रामीण विकास श्री ललित जैन ने योजना की मुख्य विशेषताओं की विस्तृत जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here