Development In The State : विद्यार्थियों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करना प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता – रोहित ठाकुर

    0
    2
    Development-una-himachalpardesh-tatkalsamachar- Rohit Thakur
    Providing quality education to the students is the topmost priority of the state government - Rohit Thakur

    ऊना, 16 अगस्त – विद्यार्थियों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करना प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। यह बात शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर ने चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र के तहत रावमापा धुसाड़ा में 1.16 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित साईंस लैब का लोकार्पण तथा 13.33 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले राजकीय स्नातकोतर महाविद्यालय चौकीमन्यार के भवन की आधारशिला रखने के उपरांत जनसमूह को संबोधित करते हुए कही।

    उन्होंने कहा कि पिछले पांचा वर्षों से चिंतपूर्णी विधानसभा क्षेत्र में शिक्षा से संबंधित दो कार्य अधर में लटके हुए थे जिसमें से साईंस लैब का लोकार्पण करके जनता को समर्पित कर दिया गया है तथा चौकीमन्यार में बनने वाले राजकीय महाविद्यालय के भवन के लिए सरकार बनते ही फोरेस्ट क्लीयरेंस करके भवन की आधारशिला रखी गई ताकि आने वाली पीढ़ी को क्षेत्र में बेहतर शिक्षा सुविधा मिल सके। https://www.tatkalsamachar.com/health-family-welfare-economic-uplift/ उन्होंने कहा विकास कार्यों में धन की कमी आडे़ नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कॉलेज भवन की कार्य प्रगति होते ही चरणबद्ध तरीके से धनराशि मुहैया करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि रावमापा चौकीमन्यार में साईंस लैब के लिए  आगामी वित्त में वजट का प्रावधान कर दिया जाएगा।

    उन्होंने कहा कि चिंतपूर्णी विस क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह की सरकार में शिक्षा के क्षेत्र में काफी विस्तार हुआ था जिसमें तीन कॉलेज इस विस क्षेत्र में खोले गए थे। उन्होंने कहा कि रावमापा धुसाड़ा के सैंकडों विद्यार्थी देश व प्रदेश में विभिन्न उच्च पदों पर आसीन हुए हैं तथा इस क्षेत्र का नाम रोशन किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन परिणाम देने वाले शिक्षण संस्थानों में ढांचागत विकास को प्राथमिकता दी जाएगी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा विभाग में रिक्त पदों को भरने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न श्रेणियों के 6 हज़ार पदों को भरने की स्वीकृति प्रदान की गई है। इससे आने वाले समय में शिक्षण संस्थानों में अध्यापकों व अन्य कर्मचारियों के रिक्त पदों को भरा जाएगा। 

    रोहित ठाकुन ने कहा कि प्रदेश सरकार के सत्ता में आने पर हिमाचल प्रदेश में 3,145 प्राथमिक पाठशालाओं में केवल एक शिक्षक तथा 455 पाठशालाएं बिना शिक्षक के चल रही थीं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में ऊना की सभी प्राथमिक पाठशालाओं में शिक्षक नियुक्त कर दिए गए हैं। शिक्षा मंत्री ने जानकारी दी कि महाविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए प्रदेश सरकार ने हाल ही में लगभग 300 सहायक प्रोफेसर के पद दूर-दराज के क्षेत्रों में भरे ताकि बच्चों को बेहतर शिक्षा मिल सके। 

    उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को तकनीकी शिक्षा के प्रति आकर्षित करने तथा स्वरोजगार के जरिए आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में नए व्यवसाए शुरू किए जा रहे हैं। 

    इससे पहले शिक्षा मंत्री ने आईटीआई परिसर नैहरियां का दौरा किया तथा आईटीआई के निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण किया। उन्होंने संबंधित विभागीय अधिकारियों को शीघ्र ही कार्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आईटीआई भवन नैहरियां के लिए 1.10 करोड़ रूपये की राशि जारी कर दी जाएगी ताकि शेष कार्य को शीघ्र पूर्ण कर क्षेत्र की जनता को इसका लाभ प्रदान किया जा सके। 

    रोहित ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार को सत्ता में आने पर 7 हज़ार 500 करोड़ रूपये का ऋण तथा 11 हज़ार करोड़ रूपये की अन्य देनदारियां विरासत में मिली। इसके अलावा हाल ही में भारी बारिश के कारण प्रदेश में जानमाल की भारी क्षति के कारण प्रदेश को लगभग 8 हज़ार करोड़ रूपये का आर्थिक नुक्सान हुआ है। उन्होंने कहा कि विपरीत आर्थिक परिस्थितियों तथा https://youtu.be/Ohk1TUz0R3E आपदा के कारण राज्य में हुए भारी नुक्सान के बावजूद प्रदेश में विकास की रफ्तार को रूकने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आपदा का यह दौर प्रदेश सरकार के लिए परीक्षा की घड़ी है तथा राज्य की जनता के सहयोग व आशीर्वाद से सरकार इसमें सफल होगी।

    घोषणा

    इस मौके पर रोहित ठाकुर ने रावमापा धुसाड़ा में शौचालय व पार्किंग निर्माण हेतू 31 लाख रूपये देने की राशि स्वीकृत करने की घोषणा की। शिक्षा मंत्री ने पीडब्ल्यूडी विभाग को इस कार्य से संबंधित टैंडर लगाने की प्रक्रिया को 15 दिन के भीतर पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि रावमापा धुसाड़ा स्कूल का परिसर जिला ऊना में ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में से सबसे बेहतरीन स्कूल कैम्पस बनाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा। 

    इसके अतिरिक्त रावमापा धुसाड़ा स्कूल द्वारा कुश्ती के लिए अखाड़ा हॉल बनाने की मांग रखी। इस मांग पर शिक्षा मंत्री ने आश्वासन दिया कि अखाड़ा हॉल का प्राकलन उपलब्ध होने के उपरांत धन राशि उपलब्ध करवा दी जाएगी।

    इस अवसर पर विधायक चिंतपूर्णी सुदर्शन सिंह बबलू, कुटलैहड़ विधायक देवेंद्र सिंह भुट्टो, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रणजीत सिंह राणा, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी चिंतपूर्णी के अध्यक्ष डॉ रविन्द्र शर्मा, पूर्व बीडीसी अध्यक्ष देवेंद्र लट्ठ, एडवोकेट विकास कश्यप, प्रधान धुसाड़ा पंचायत नीरू वाला, उप प्रधान सहदेव, मदनलाल शर्मा, एसडीएम अंब विवेक महाजन, अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी जीएस राणा, उपनिदेशक प्रारम्भिक शिक्षा देवेंद्र चंदेल चौकीमन्यार पाठशाला के प्रधानाचार्य मनोहर लाल, प्रधानाचार्य धुसाड़ा स्कूल सुरेंद्र कौंडल, कॉलेज के कार्यकारी प्रधानाचार्य डॉ ध्रुव पाल सिंह सहित स्थानीय पंचायतों के पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here