जापान अमेरिकी टॉस्क फोर्स में नहीं होगा शामिल, खुद करेगा अपने जहाजों की निगरानी

0
16

नई दिल्ली
अमेरिका से अलग हटकर जापान ने अब मिडिल ईस्ट में अपने जहाजों की रक्षा करने के लिए एक युद्धक पोत और निगरानी पोत भेजने की योजना बनाई है, जापान इस मिशन में 206 नौसेनिकों की भी तैनाती करेगा। यह तैनाती जनवरी 2020 के आखिर में शुरू होने की संभावना है। जापान इस टास्क फोर्स में शामिल नहीं हुआ, अब जापान ने अपनी नौसेना मिडिल ईस्ट में भेजने की योजना बनाई है, वो इसी पर काम कर रहा है। जापान इस टास्क फोर्स में शामिल नहीं हुआ था। ईरान ने अमेरिका के इस कदम की आलोचना की थी। जहाजों की रक्षा करने के लिए युद्धक और निगरानी पोत जापान सरकार की कैबिनेट ने एक आदेश जारी कर कहा कि जापान मध्य पूर्व के इलाके में अपने जहाजों की रक्षा करने के लिए एक युद्धक पोत और निगरानी पोत भेजेगा।ईरान की जलसीमा के पास ओमान की खाड़ी और अरब सागर में जापानी जहाजों की रक्षा करने और जानकारी जुटाने के लिए एक हेलीकॉप्टर युक्त युद्धक पोत और दो पी-3सी हवाई जहाज इस इलाके में तैनात किए जाएंगे। जापान इस मिशन में 206 नौसेनिकों की तैनाती करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here