अमेरिका ने अपने विमानों को किया आगाह, कहा- पाकिस्तानी वायुक्षेत्र से बचें, हो सकता है आतंकी हमला

0
15

नई दिल्ली: 

पाकिस्तान धीरे-धीरे दुनिया के लिए खतरा बनता जा रहा है। अब अमेरिका ने अपने विमानों पर पाकिस्तान के वायुक्षेत्र में आतंकी हमले होने का खरता जाहिर किया है। अमेरिका ने अपने विमानों को पाकिस्तान का वायुक्षेत्र इस्तेमान ना करने के लिए भी कहा है। अमेरिका ने अपने विमानों को आगाह किया है कि वह पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से बचें। पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र में चरमपंथी और आतंकवादी समूहों द्वारा अमेरिकी एयरलाइंस (वाणिज्यिक और अमेरिकी राज्य वाहक) पर हमले हो सकते हैं।

ANI@ANI

United States warns its air carriers to avoid Pakistan airspace, it may be a risk & possible threat of attacks on US airlines (commercial&US state carrier) by Pakistan extremist & militant groups.

Twitter पर छबि देखें

अमेरिका के फेडरल एविएशन ऐडमिनिस्ट्रेशन (FAA) की ओर से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि कट्टरपंथियों आतंकी संगठनों द्वारा अमेरिकी विमानों पर हमले का खतरा है। एडवाइजरी के मुताबाकि, उन विमानों को ज्यादा खतरा हो सकता है जो ज्यादा ऊंचाई पर ना उड़कर नीचे उड़ान भरते हैं। उसमें कहा गया कि ‘पाकिस्तान में सक्रिय कट्टरपंथी/आतंकी तत्वों द्वारा अमेरिकी विमानों पर छोटे हथियारों और ऐंटी-एयरक्राफ्ट फायर के जरिए हमला किए जाने का जोखिम है।’
FAA ने अपनी एडवाइजरी में 2014 से 2019 के बीच पाकिस्तान में सिविल एविएशन को टारगेट करने की आतंकियों की कोशिशों का भी जिक्र किया। एडवाइजरी में कहा गया कि 2014 से 2019 के बीच पाकिस्तान में सक्रिय चरमपंथी/आतंकी समूहों ने एयरपोर्ट समेत एविएशन इन्फ्रास्ट्रक्चर पर कई हमलों के जरिए अपने इरादों को जाहिर किया है। 2019 में दो लोगों को छोटे हथियार से इस्लामाबाद इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर एक कमर्शल एयरक्राफ्ट पर फायरिंग करने के लिए गिरफ्तार भी किया गया था।
एडवाइजरी में कहा गया कि पाकिस्तान में अमेरिकी विमानों को एयरपोर्टों पर भी आतंकी हमले का खतरा है। इतनी ही नहीं, अराइवल या डिपार्चर के वक्त भी विमानों को निशाना बनाया जा सकता है। एडवाइजरी में कहा गया कि कुछ आतंकी समूहों की पहुंच MANPADS तक हो सकती है। लेकिन, फिलहाल MANPADS से हमले का कोई उदाहरण तो सामने नहीं


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here